Thursday, 27 October 2016

अमरूद की पत्तियां मधुमेह, मोटापा व शुक्राणु कमी आदि 10 बड़े रोगों में रामबाण औषिधि है, जरूर अपनाएँ

अमरूद की पत्तियां मधुमेह, मोटापा व शुक्राणु कमी आदि 10 बड़े रोगों में रामबाण औषिधि है, जरूर अपनाएँ


अमरूद से तो हम भलि-भांति वाकिफ हैं और बाजार से पैकेट में मिलने वाले अमरूद के जूस को भी बड़े चाव से पीते हैं। लेकिन क्या आपको पता है अमरूद के पेड़ की पत्तियां भी प्राकृतिक औषधि का काम करती हैं। यह पत्तियां वजन घटाने में तो मददगार सिद्ध होती ही हैं, साथ ही डेंगू, डायरिया, पेचिश जैसे बीमारियों से लड़ने में मदद भी करती हैं। ऐसे ही इसके 10 फायदे जानने के लिए पढ़ें आगे 
1. मधुमेह के रोगियों के लिए लाभदायक : जापान के याकुल्ट सेन्ट्रल इंस्टिट्यूट में हुए एक शोध में यह पाया गया की अमरुद के पत्तों में खून से ग्लूकोज कम करने की क्षमता है। यह शरीर से बिना इन्सुलिन पर कोई प्रभाव डाले माल्टोज और सुक्रोज की मात्रा को कम करता है। 12 हफ्तों तक अमरुद के पत्तो को पानी में उबालकर पीने से शरीर के चीनी की मात्रा को कम किया जा सकता है
2. कोलेस्ट्रोल करता है कम : शोध में यह सिद्ध किया गया है की 3 महीने तक अमरुद के पत्ते का सेवन करने से गुड कोलेस्ट्रोल पर बिना कोई प्रभाव डाले बैड कोलेस्ट्रोल को नष्ट किया जा सकता है। इसके अलावा अमरुद के पत्ते लीवर के लिए भी एक बेहतरीन टॉनिक हैं।
3. डायरिया और पेचिश के लिए प्राकृतिक औषधि : अमरुद के पत्ते डायरिया और पेचिश के लिए भी प्राकृतिक औषधि हैं। डायरिया के उपचार के लिए 30 ग्राम अमरुद के पत्तों को एक लीटर पानी में एक या दो मुट्ठी चावल के आते के साथ उबाल ले और इस मिश्रण को दिन में दो बार पियें। पेचिश के उपचार के लिए अमरुद के पत्ते और तने को 20 मिनट तक 90 डिग्री सेल्सियस के तापमान पर उबालें। उबालने के बाद पानी छान ले और ठंडा होने के बाद पियें
4. पाचनतंत्र को करता है मजबूत : अमरुद के पत्तों में पेट की समस्याओं को दूर करने के भी गुण होते हैं। यह पेट से हानिकारक बैक्टेरिया को दूर करते हैं और आँतों को भी साफ़ रखते हैं। फ़ूड पाइजनिंग, उलटी की स्थिति में भी अमरुद के पत्ते लाभदायक होते हैं। पेट दर्द की तकलीफ को दूर करने के लिए, अमरुद के 8-10 पत्तों को 1.5 लीटर पानी में उबाल कर पीने से राहत मिलती है।
5. वजन कम (weight loss) करने भी सहायक : अमरुद के पत्ते काम्प्लेक्स स्टार्च को चीनी में तब्दील नहीं होने देते जिसके फलस्वरूप शरीर में अनावश्यक कैलोरी नहीं बनते और वजन कम करने में सहायता मिलती है।
6. ब्रोंकाइटिस के उपचार में भी लाभदायक : अमरुद के पत्ते फेफड़ों के रास्तों को सुगम बनाते हैं और कफ कम करते हैं जिससे ब्रोंकाइटिस की तकलीफ से राहत मिलती है।
7. दांतों और मसूडो के लिए भी फायदेमंद : दांतों में दर्द हो, मसूड़े सूज गए हो, ऐसी स्थिति में अमरुद के पत्तों का इस्तेमाल करना बहुत फायदेमंद होता है। अमरुद के पत्तों में सूजन कम करने वाले गुण होते हैं। अमरुद के पत्तों के से बने पेस्ट से रोजाना ब्रश करना भी दांतों के लिए बहुत ही ज्यादा फायदेमंद हो सकता है।
8. डेंगू बुखार में भी लाभदायक : अमरुद के पत्तों में ब्लड प्लेटलेट्स बढाने के शक्ति होती है जिस वजह से यह डेंगू बुखार में काफी फायदेमंद साबित होता है। डेंगू बुखार में उपचार के लिए अमरुद के 8-9 पत्तों को 5 कप पानी में तबतक उबालें जबतक पानी घट कर 3 कप न हो जाए। इस पानी को दिन में 3 बार रोगी को पिलायें।
9. प्रोस्टेट कैंसर के लिए होता है फायदेमंद : प्रोस्टेट कैंसर को रोकने के लिए अमरुद के पत्ते बहुत ही कारगर होते हैं।
10. शुक्राणु निर्माण : अमरुद के पत्तों के सेवन से वीर्य में शुक्राणुओं का निर्माण तेजी से होता है

No comments:

Post a Comment