Wednesday, 26 October 2016

मोटापा कम करने के आयुर्वेदिक उपाय


मोटापा कम करने के आयुर्वेदिक उपाय
बढ़ते मोटापे की समस्या से निवारण के लिए व्यक्ति अनेक तरह के उपायों और दवाइयों का सेवन करता है जिनके उनपर हानिकारक परिणाम दिखने लगते है किन्तु आप उनकी जगह कुछ ऐसे आयुर्वेदिक उपायों का इस्तेमाल कर अपने मोटापे को कम कर सकते हो जिनका कोई साइड इफ़ेक्ट नही होता, बल्कि ये आपको मोटापे से मुक्त करने में आपके लिए सबसे अधिक सहायक होते है.

मोटापा वो स्थिति है जब व्यक्ति के शरीर में वसा की मात्रा एक सीमा से अधिक हो जाती है और ये एक जगह इक्कठा होना शुरू हो जाती है, जिससे आपके स्वास्थ्य पर हानिकारक प्रभाव पड़ते है. ऐसा माना जाता है कि मोटापा आयु को भी कम कर देता है. मोटापे से व्यक्ति की भार सूचकांक तालिका भी बढ़ जाती है और उन्हें मधुमेह, हृदय रोग, कैंसर और निद्रकालीन श्वसन समस्या उत्तपन हो जाती है. किन्तु इन आयुर्वेदिक उपायों को अपनाकर आप आसानी से अपने मोटापे को कम कर सकते हो.
निम्बू :
मोटापा कम करने के लिए सबसे पहले जिस चीज का नाम सबसे पहले आता है वो है निम्बू इसको आप अनेक तरीको से प्रयोग कर अपने मोटापे को दूर कर सकते हो. ये तरीके निम्नलिखित है.

-    आप प्रतिदिन सुबह शाम 25 ग्राम निम्बू का रस और 25 ग्राम शहद ले और उसे गर्म पानी में मिलाकर सेवन करें. इससे शीघ्र ही आपका मोटापा कम होता है.

-    250 ग्राम निम्बू का रस और 15 गर्म करेला का रस मिलाकर पीने से भी मोटापा नष्ट होता है.

-    2 महीनो तक प्रतिदिन सुबह खाली पेट 250 ग्राम पानी में 1 निम्बू को मिलाकर पियें. साथ ही आप इसमें थोडा नमक भी जरुर मिला लें आपको शत प्रतिशत लाभ होगा. 

-    इसके अलावा आप 250 ग्राम पानी में 25 ग्राम निम्बू का रस और 20 ग्राम शहद मिलकर पियें इससे आपके शरीर की अतिरिक्त चर्बी कम होती है.

-    आप रोजाना सुबह शाम खाना खाने के बाद 1 कप गर्म पानी में थोडा निम्बू मिलकर जरुर पियें इसका सेवन करने से न सिर्फ आपके शरीर की चर्बी कम होगी बल्कि आपकी गैस, कब्ज, आंतो में सुजन और पेट से कीड़े भी नष्ट हो जायेंगें.
मुली :
-    रोजाना सुबह शाम मुली के रस में 3 से 6 ग्राम शहद का रस मिलाकर पिने से भी मोटापे जैसी बीमारी से निजात मिलती है.

-    इसके अलावा मुली के 100 से 150 ग्राम रस में आप 1 निम्बू के रस को मिलकर दिन में 2 से 3 बार पियें.

-    मोटापा कम करने के लिए आप मुली के बीजो को सुखा लें और उनका चूर्ण बना लें. अब आप इस चूर्ण में से 6 ग्राम चूर्ण को यवक्षार के साथ मिलकर ग्रहण करें, इसके ऊपर से आप शहद और निम्बू के रस को पानी के साथ लें. ऐसा करने से जल ही आपको मोटापे से छुटकारा मिलता है.

-    आप इस चूर्ण में से 6 ग्राम चूर्ण को 20 ग्राम शहद के साथ मिला लें इससे भी आपको मोटापे को कम करने में लाभ मिलेगा.

-    20 ग्राम शहद का शरबत 40 दिनों तक पिने से भी मोटापा कम होता है.

तुलसी :
-    अगर आपके पेट और कमर पर अत्यधिक चर्बी है तो आपक प्रतिदिन तुलसी के कोमल और ताजे पत्तो को पीसकर दही के साथ अपने आहार में जरुर लेना चाहियें इससे ये चर्बी जल्द ही दूर हो जाती है.
-    तुलसी के पत्तो के 10 ग्राम रस को आप 100 ग्राम पानी के साथ मिलकर ग्रहण करें इससे आपके शरीर का ढीलापन दूर होता है और शरीर की अत्यधिक चर्बी कम होती है.

-    आप 1 गिलास पाने में 2 चम्मच शहद और 10 बूंद तुलसी के पत्तो के रस को मिलकर पियें. जल्द ही आपको अपने मोटापे में फर्क दिखाई देता है.

त्रिफला :
-    आप रात को सोने से पहले एक ग्लास गर्म पानी में 15 ग्राम त्रिफला के चूर्ण को मिलकर सोयें और सुबह उठकर इस पानी को छान लें. अब आप इसमें थोडा शहद मिलकर पियें. इस उपयोग को आप 10 से 15 दिन जरुर अपनाएं आपको निश्चित रूप से लाभ प्राप्त होगा.

-    आप त्रिफला, त्रिकुटा, चित्रक, नागरमोथा और वायविंडग को मिलाकर काढ़ा तैयार कर लें. अब आप इसमें थोडा गूगल मिला कर सेवन करें. आपको मोटापा कम करने में लाभ मिलेगा.

-    सुबह शाम त्रिफला के चूर्ण में 10 ग्राम शहद को मिलकर पियें इससे जल्द ही आपका मोटापा कम होता है.

-    1 गिलास पानी को उबाल लें और उसमे 2 चम्मच त्रिफला और मिश्री को मिलकर इसका सेवन करने इससे आपके शरीर की चर्बी कम होती है और मोटापा दूर होता है.

-    1 – 1 ग्राम त्रिफला का चूर्ण और गिलोय शहद के साथ चाटने से पेट का बढ़ना कम होता है और आपको मोटापा कम करने में सहायक होता है.

हरड :
-    आप 500 ग्राम सेंधानामक, 500 ग्राम हरड और 250 ग्राम कालानमक को मिलाकर पीस लें, अब आप इसमें 20 ग्राम ग्वारपाठे का रस मिला लें और इसे सूखने के लिए रख दें. अब आप इस चूर्ण को रोजाना रात को सोने से पहले ग्राम पानी के साथ लें आपको मोटापे के रोग से जल्द ही मुक्ति मिलेगी.
-    आप हरड को बारीक पीसकर उसका चूर्ण बना लें. अब आप इस चूर्ण को नहाने से पहले अपने शरीर पर अच्छी तरह लगायें इसके दो फायदे होते है, पहला तो ये आपके मोटापे को कम करने में सहायक होता है और दूसरा इससे आपके शरीर में पसीने से आने वाली बांस भी दूर होती है.

-    हरड, बहेड़ा, आंवला, सोंठ, कालीमिर्च, पीपल, सरसों का तेल और सेंधानामक को पीस कर चूर्ण बना लें और इसका लगातार 6 महीनो तक सेवन करें. इससे शरीर का मोटापा कम होता है और कफ और वायु रोग से मुक्ति मिलती है.

सोंठ :
-    आंवला, सोंठ, जवाखार, कांतिसार और जौ क बराबर मात्रा में छानकर पीस लें, अब आप इसमें शहद मिलकर पियें. इससे मोटापे की बीमारी में आराम मिलता है.

-    सोंठ, कालानमक, हींग, सफ़ेद जीरा, चव्य, छोटी पीपल, कालीमिर्च और चीता को बराबर मात्रा में अच्छी तरह पीसकर चूर्ण बना लें. आप इस चूर्ण को प्रतिदिन 6 ग्राम की मात्रा में गर्म पानी के साथ लें. जल्द ही आपको मोटापे से मुक्ति मिलेगी.

गिलोय :
-    गिलोय, नागरमोथा और हरड को बराबर मात्रा में लेकर इसका चूर्ण बन लें. आप इस चूर्ण की एक चम्मच को रोजाना शहद के साथ दिन में तीन बार जरुर लें. इससे आपके चेहरे पर त्वचा का लटकना और शरीर की चर्बी कम होती है.

-    आंवला, गिलोय, हरड और बहेड़ा को मिलकर काढ़ा तैयार करें. अब आप इसमें शुद्ध शिलाजीत को मिलाकर रोजाना सेवन करें इससे आपके पेट और कमर की अधिक चर्बी कम होती है.
-    3 ग्राम गिलोय और 3 ग्राम त्रिफला को पीसकर चूर्ण बनायें और इसे शहद के साथ मिलाकर चाटे. इस तरह भी आपको मोटापे से निजात मिलती है.

पिप्पली :
-    1 महीने तक सुबह शाम आधा ग्राम पिप्पली का चूर्ण शहद के साथ लें. इस उपयोग से भी आपका मोटापा जल्द समाप्त होता है.

-    आप दूध में पिप्पली के 1 से 2 दानो को मिलकर उबालें, उसके बाद दूध को ठंडा होने दें. ठंडा होने पर आप पिप्पली के दानो को निकालकर खा लें और उसके ऊपर उसी दूध को पी जायें. इस तरह आपके शरीर से मोटापा दूर होता है.

-    150 ग्राम पिप्पली, 30 ग्राम सेंधानमक को अच्छी तरह पीस लें और इसकी 21 खुराक बना लें. आप रोजाना सुबह खली पेट इनमे से 1 खुराक का छाछ के साथ सेवन करें. इससे आपके शरीर की चर्बी कम होती है.

जौखर :
-    175 ग्राम चित्रकमुल और 35 ग्राम जौखर को मिलकर अच्छी तरह पीस इसका चूर्ण तैयार कर लें. आप इसम से रोजाना 5 ग्राम चूर्ण को निम्बू के रस और शहद के साथ खली पेट गुनगुने पानी से ग्रहण करें. इससे शरीर की फ़ालतू की चर्बी समाप्त होती है और शरीर सुडौल होता है. आप इस उपयोग को 40 दिन तक जरुर अपनायें.
-    आप आधा आधा ग्राम जौखर के चूर्ण को दिन में 3 बार पानी के साथ सेवन करें इससे भी आपका मोटापा दूर होता है.    

पानी :
-    250 ग्राम गुनगुने पाने में 1 निम्बू का रस और 2 चम्मच शहद मिलाकर खली पेट पियें. इससे शरीर की त्वचा का ढीलापन दूर होता है और शरीर की चर्बी घटती है.  

-    आप खाना खाने से पहले 1 गिलास गुनगुना पानी जरुर लें, इससे आपको कम भूख लगती है साथ ही ये आपके शरीर की चर्बी को भी कम करता है.

-    प्रतिदिन शहद के साथ बासी पानी को मिलाकर पीने से भी मोटापे में लाभ मिलता है.

एरण्ड :
-    आप एरण्ड की जड़ का काढ़ा बना ले और अब इस काढ़े को 1 – 1 चम्मच की मात्रा में शहद के साथ दिन में 2 बार ग्रहण करें.

-    इसके साथ ही आप एरण्ड के पत्तो का रस निकालकर हिंग के साथ मिलाकर ग्रहण करें. इसके ऊपर से आप पके हुए चावल खायें, इससे आपके शरीर की अतिरिक्त चर्बी कम होती है.

जौ :
-    आप कुछ जौ लें और उन्हें पानी में भिगो कर रख दें, फिर आप इन्हें सुखा लें. अब आप इनका छिलका उतारकर पीस चूर्ण बना लें. आप रोज सुबह एक कप खीर बनाकर इसको ग्रहण करें. इससे आपके शरीर की कमजोरी दूर होती है साथ ही ये आपके मोटापे को भी दूर करता है.

-    शहद, त्रिफला और जौ का रस मिलकर काढा तैयार करें. आप रोजाना इस काढ़े के सेवन करें. आपको लाभ मिलेगा.

चावल की गर्मागरम मांड को कुछ दिन सेवन करने से भी मोटापा दूर होता है.

करेला के रस को 1 निम्बू के साथ मिलाकर रोजाना सेवन करने से भी शरीर की अत्यधिक चर्बी कम होती है.

चाय में पुदीना डालकर इसका सेवन करें आपको मोटापे से जल्द निजात मिलेगी.

धनिया 10 ग्राम, 20 ग्राम सूखे गुलाब के पत्ते और मिश्री का चूर्ण तैयार कर, सुबह शाम 2 चुटकी दूध में मिलाकर सेवन करें. आपके शरीर से अतिरिक्त चर्बी नष्ट होगी.

अनानास का इस्तेमाल शरीर की स्थूलता को नष्ट करने के लिए किया जाता है तो मोटे व्यक्तियों को प्रतिदिन अनानास का सेवन जरुर करना चाहियें.

अजवायन 20 ग्राम, 20 ग्राम सेंधानमक, 20 ग्राम जीरा और 20 ग्राम कालीमिर्च को कूटकर उसका चूर्ण बन लें और रोजाना सुबह खली पेट छाछ के साथ पियें. इससे भी आपके शरीर की चर्बी नष्ट होती है.


बाबुल के पत्तो को पानी के साथ पीसकर शरीर पर लगाने से भी त्वचा का ढीलापन दूर होता है और मोटापा कम होता है.

No comments:

Post a Comment