Tuesday, 25 October 2016

गंजापन रोकने के आयुर्वेदिक तरीके




गंजापन रोकने के आयुर्वेदिक  तरीके-Ayurvedic methods to prevent baldness


बाल पुरे व्यक्तित्व के साथ -साथ चेहरे की खूबसूरती को भी बरकरार रखने का कार्य करते है |
गंजापन ,एक ऐसी बीमारी है जो किसी की भी सुंदरता को ख़राब कर देती  है ,ऐसे में यदि आपके बाल तेजी से झड़ने लगे तो तो आप बहुत ही ज्यादा परेशान हो उठते है |
लेकिन आपको परेसान होने की कोई आवश्यकता नही है ,हम आज आपको गंजापन रोकने के आयुर्वेदिक  तरीके बताने जा रहे हैं की आप कितनी आसानी से घर पर ही अपनी बालो का झड़ने से बचा सकते है |

गंजापन रोकने के आयुर्वेदिक  तरीके-

1.उड़द की दाल-
उडद की दाल आवश्यकतानुसार लेकर  उबाल  दीजिये |
इसे बारीक़ पीसकर रत को सोने से पहले सर में लगाकर सो जाइये ,सुबह धो लीजिये |
एक महीने के नियमित प्रयोग से आपके सिर में नए बाल आ जायेंगे |
2.आँवला और दही –
आवला का चूर्ण और दही ,दोनों को अच्छी तरह से मिक्स कर लीजिये |
इस पेस्ट को सिर में लगाकर पांच-दस मिनट तक मालिश करिये |
फिर गुनगुने पानी से धूल लीजिये |कुछ दिनों तक नियमित प्रयोग कीजिये |
इससे आपके सिर का गंजापन दूर हो जायेगा |
3.प्याज –
एक प्याज को दो टुकड़े में काट कर बाल के झड़े हुए जगह पर 10 मिनट तक रगड़े ,इससे आपके सिर में नए बाल निकलने लगेंगे |नियमित प्रयोग कीजिये |
4.खान -पान पर विशेष ध्यान दें –
खाने में विटामिन्स और प्रोटीन युक्त आहार को शामिल कीजिये |
जिससे  बालों को भरपूर पोषण प्राप्त हो सके |इससे आपके बाल मजबूत और स्वस्थ्य बने रहेंगे |
और गंजेपन की शिकायत भी दू हो जाएगी |

5.कनेर का पत्ता –
50 -60 कनेर के पत्ते लीजिये |
इसे एक लीटर सरसो का तेल ,या जैतून का तेल या नारियल के तेल में मिलाकर गर्म करे |
जब तक की पत्ते काले न हो जाये |
इसके बाद इसे छानकर तेल को अलग रख लीजिये |
इस तेल को बालो में नियमित लगाए ,मात्रा 10  दिन में आपको फर्क दिख जायेगा |

No comments:

Post a Comment