Wednesday, 26 October 2016

हल्दी वाला पानी अमृत के समान गुणकारी

हल्दी वाला पानी अमृत के समान गुणकारी





सर्दी जुकाम में राहत

यदि सर्दी और जुकाम से नाक बंद हो जाती हो तो हल्दी वाला पानी में शहद के साथ थोड़ी सी काली मिर्च मिला कर पीने से सर्दी जुकाम में राहत मिलती है।

करे छालों को दूर

हल्दी के प्रयोग से मुंह के छालों से राहत मिलती है। हल्दी के पाउडर को गरम पानी में मिला लें और इस पानी को मुंह में डालकर कुल्ला करें। आपको छालों से आराम मिलेगा।

बढती उम्र को रोकना

हल्दी में बढ़ती उम्र को रोकने की क्षमता होती है। यह आपकी बढ़ती उम्र के प्रभाव का पता नहीं लगने देती है। जो लोग नियमित हल्दी वाला पानी उपयोग करते है उनके चेहरे व शरीर पर रैडिकल्स कम होते है इससे आपके शरीर पर उम्र का असर कम दीखता है।

बढ़ाए शरीर की प्रतिरोधक क्षमता

हल्दी पूरी तरह से एंटी बायोटिक होती है। इसलिए इसके सेवन से आपके शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ जाती है और बीमारी होने की संभावना कम होती है। हल्दी शरीर में उर्जा देने के साथ शरीर मेें खून को साफ रखती है।

भरे मधुमेह के घावों को

डायबिटीज के रोगियों को हल्दी का सेवन किसी न किसी तरह से जरूर करना चाहिए। हल्दी डायबिटीज से होने वाले घावों को जल्दी ही भर देती है।

घटाए वजन

हल्दी के प्रयोग करने से वजन को नियत्रित किया जा सकता है। हल्दी शरीर में जमा फैट्स को कम करती है साथ ही इसमे मौजूद गुण आपके वजन को घटाते हैं।

सांस संबंधी रोग में दे राहत

हल्दी वाले पानी के नियमित सेवन करने से आप सांस संबंधी रोग जैसे साइनस, दमा, ब्रोंरोकाइटिस और जमे हुए कफ की समस्या से निजात पा सकते हो। हल्दी इन रोगों को जड़ से ठीक करती है।

बनाए हड्डी मजबूत

हल्दी वाला पानी पीने से आपकी हड्डियां मजबूत होती है साथ ही हल्दी में मौजूद एंटिओक्सीडेंट आपको हड्डियो में होने वाली समस्याओं से भी बचाते हैं।

हर दर्द की दवा है हल्दी

हल्दी में मौजूद गुण आपको हर प्रकार के दर्द से राहत देते हैं। दर्द चाहे कानों का हो या फिर गठिया का या सिर का दर्द , हल्दी शरीर में खून का संचार ठीक करती है और दर्द को कम करती है।

अर्थराइटिस होने पर

अर्थराइटिस होने पर हल्दी वाला पानी -इसमें करक्यूमिन होने के कारण जोड़ो के दर्द और सूजन को दूर करके आपको काफी हद तक राहत पहुंचाता है।

कैंसर की रोकथाम में हल्दी का उपयोग

कैंसर से बचने और कैंसर के प्रभाव को कम करने में हल्दी एक कारगर दवाई का कार्य करती है। खाली पेट हल्दी का सेवन शरीर को अंदर से साफ रखता है। कैंसर की रोकथाम के लिए हल्दी की गोलियों में नीम को मिलाकर सेवन करने से शरीर से कैंसर की कोशिकाएं खत्म होकर बाहर निकलने लगती है।

हृदय सम्बन्धी रोगों में

हल्दी वाला पानी पीने से आप दिल संबंधी अनके बीमारियों से बच सकते हो साथ ही आपका दिल स्वस्थ रहेगा। जिन लोगो की खून की धमनियों में ब्लाकेज की शिकायत है उनको तो अवश्य ही हल्दी वाला पानी सेवन करना लाभदायक है क्युकि हल्दी खून को जमने से रोकता है अदरक भी खून को पतला रखती है और ब्लाकेज से बचाती है।

वात पित्त कफ़ शांत

हल्दी का सेवन रोज करने से त्रिदोष अर्थात वात पित्त और कफ़ तीनो ही शांत होते हैं, रोजाना 5 ग्राम तक हल्दी का सेवन अवश्य करना चाहिए।

सूजन कम करने में सहायक

शरीर में सूजन कितनी भी क्यों न हो हल्दी सूजन को कम करने में सहायक है इसमें करक्यूमिन नामक एक रसायन पाया जाता है जो दवा के रूप में काम करता है इसीलिए आपने देखा होगा किसी को भी चोट लग जाती है तो हमारे बुजुर्ग हल्दी दूध में डालकर पिलाते थे।

दिमाग के लिए फायदेमंद

हल्दी दिमाग के लिए भी फायदेमंद होती है जिनको भूलने जैसी बिमारी है वो इसका सेवन करके अपनी इस बिमारी को काफी हद तक कम कर सकते है।

लीवर के लिए लाभकारी

आपके लीवर के खराब हो चुके सेल्स को ठीक करने में हल्दी आपकी बहुत मदद करता है तथा पित्ताशय की प्रक्रिया को भी चुस्त और दुरुस्त रखता है।

चोट लगने पर

यदि किसी कारण से शरीर के बाहरी या अंदरूनी हिस्से में चोट लग जाए-तो हल्दी वाला दूध उसे जल्द से जल्द ठीक करने में बेहद लाभदायक है क्योंकि यह अपने एंटी बैक्टीरियल और एंटीसेप्टिक गुणों के कारण बैक्टीरिया को पनपने नहीं देता हैहल्दी एक ताकतवर एंटी-आक्सीडेंट है, एंटी-कैंसर के गुणों से भरपूर है ये-इसमें करक्यूमिन होने के कारण कैंसर पैदा करने वाली कोशिकाओं से भी लडती है, स्वस्थ व्यक्ति यदि सुबह एक गिलास गर्म पानी में आधा निम्बू एक चम्मच शहद और आधा tea स्पून हल्दी मिला कर पिया जाए तो उसके लिए यह अमृत समान ड्रिंक बन जाता है। बीमार व्यक्ति अपनी दवाओ के साथ में निसंकोच सुबह उठ कर और रात को सोने से पहले हल्दी वाले पानी या हल्दी वाले दूध को ज़रूर पिये। इसको पीने के जुकाम से लेकर कैंसर तक अनेक फायदे हैं, आज उन फायदों के बारे में आपको अवगत करवाते हैं। आइये जानें
हल्दी वाला पानी बनाने में अगर 5-5 पत्ते तुलसी और पोदीना के मिल जाए तो यह शारीर के डी टोक्सिफिकेशन के लिए ग़ज़ब का ड्रिंक बन जायेगा
विशेष – अगर किसी भाई या बहन को निम्बू से एलर्जी हो तो वो ये ड्रिंक बिना निम्बू के भी पी सकता है, तब भी ये बहुत प्रभावी होगा।

हल्दी वाले पानी के फायदे

खांसी से राहत

हल्दी आपको खांसी से राहत देती है। हल्दी वाला पानी नियमित पीने से आपको खांसी होने कि सम्भावना बहुत कम होती है

No comments:

Post a Comment