Saturday, 22 October 2016

असंतुलित खान-पान से बढ़ता है मोटापे का खतरा, जानें कैसे मोटापा करें कम …




आइये आपको बताते है मोटापा कम कैसे करें। इसका इलाज हर हाल में संभव है बस कुछ नियम और संयम का पालन करें –
1. भोजन में गेहूं के आटे की रोटी बन्द करके जौ-चने के आटे की रोटी लेना शुरू करें। इससे सारे शरीर का मोटापा कम हो जाएगा।

2. प्रतिदिन सुबह खाली पेट एक गिलास गुनगुने पानी में 2 चम्मच शहद व नींबू का रस मिलाकर पीने से भी कुछ दिनों में मोटापा कम होने लगता है। पतले होने के चक्कर में दूध और शुद्ध घी का सेवन बन्द न करें। वरना शरीर में कमजोरी, रूखापन, वातविकार, जोड़ों में दर्द, गैस ट्रबल आदि होने की शिकायतें पैदा होने लगेंगी।

3. सेब और गाजर को बराबर मात्रा में कद्दूकस करके सुबह खाली पेट 200 ग्राम की मात्रा में खाने से वजन कम होता है और स्फूर्ति व सुन्दरता बढ़ती है। इसके सेवन के 2 घंटे बाद तक कुछ नहीं खाना चाहिए।

4. एक गिलास गर्म पानी प्रतिदिन सुबह-शाम भोजन के बाद पीने से शरीर की चर्बी कम होती है। इसके सेवन से चर्बी तो कम होती है साथ में गैस, कब्ज, कोलाइटिस (आंतों की सूजन), एमोबाइसिस और पेट के कीड़े भी नष्ट होते है।

5. 100-150 ग्राम मूली के रस में नींबू का रस मिलाकर दिन में 2-3 बार पीने से मोटापा कम होता है। मूली के चूर्ण को शहद में मिलाकर सेवन करने से भी मोटापा कुछ ही महीनों में दूर हो जाता है।

6. मिश्री, मोटी हरी सौंफ और सुखा साबुत धनिया बराबर मात्रा में पीसकर रख लें। इस मिश्रण को एक चम्मच सुबह पानी के साथ लेने से अधिक चर्बी कम होकर मोटापा दूर होता है।

7. पुदीना में मोटापा विरोधी तत्व पाये जाते है। एक चम्मच पुदीना के रस में 2 चम्मच शहद मिलाकर लेने से मोटापा कम होता जाता है।

8. नियमित सुबह उठते ही 250 ग्राम टमाटर का रस दो-तीन महीने पीते रहने से शरीर की अतिरिक्त वसा में कमी आती है।

9. बारीक कटी हुई अदरक और एक नींबू को भी कई टुकड़ों में काट लें। अब दोनों को पानी में उबालें। इस पानी को सुहाता गरम पिएं। बहुत ही कारगर और बढिय़ा उपाय है।

10. कम केलोरी वाले खाद्य पदार्थों का सेवन करें। कम केलोरी का भोजन मोटापा निवारण के लिए अनिवार्य है। भोजन में ऐसी चीजों को शामिल करें जिनमें नगण्य केलोरी हो। जैसे कि नींबू, अमरुद, अंगूर, सेव, खरबूजा, जामुन, पपीता, आम, संतरा, पाइनेपल, टमाटर, तरबूज, बैर, स्ट्राबेरी, पत्ता गोभी,फूल गोभी, ब्रोकोली, प्याज, मेथी, मूली, पालक, शलजम, सौंफ, लहसुन, भूने चने, मूंग दाल, दलिया, अंकुरित अनाज, छिलके वाली दाल, सलाद, दही आदि. आलू, चावल, नमक और चीनी का सेवन कम करें। ग्रीन टी दिन में 2-3 बार पिएं। अधिक वसा युक्तभोजन से परहेज करें। तली व गली चीजें इस्तेमाल करने से चर्बी बढ़ती है। वनस्पति घी शरीर के लिए हानिकारक है।

No comments:

Post a Comment