Saturday, 19 November 2016

Glycemic Index slim होने के लिए सबसे महत्वपूर्ण

Glycemic Index slim होने के लिए सबसे महत्वपूर्ण

अगर आप मोटापे या पतलेपन से परेशान हैं और बहुत तरीके अपना अपना कर देख चुके हैं तो आपको भोजन में जी. आई. (Glycemic Index) को समझना बेहद ज़रूरी हैं। क्यूंकि अगर आप इसको ही समझ ना सके तो आप चाहे लाखो प्रयत्न कर लीजिये आपका मोटापा या पतलापन कम नहीं होगा।
आज हम आपको बताने जा रहे हैं के जी. आई. (Glycemic Index) भोजन कैसे अहम भूमिका निभाता हैं हमारे वज़न नियंत्रण में

वज़न घटाने और बढ़ाने में मददगार जी. आई.।

वज़न को नियंत्रण करने के लिए न्यूट्रिशनिस्ट गलाइसेमिक इंडेक्स जी आई कम करने पर ज़ोर देते हैं। हमारे भोजन में कार्बोहाईडरेट होते हैं, जो शरीर को ऊर्जा देने के सबसे अच्छे स्त्रोत हैं। ये दिमाग, मांसपेशियों और दूसरे ज़रूरी अंगो के लिए बहुत फायदेमंद हैं। जब खाना पाचनतंत्र में जाता हैं, तो कार्बोहाईडरेट टूट कर सरल शर्करा ग्लूकोज़ बनाता हैं, और रक्त में शर्करा का स्तर बढ़ जाता हैं। ये गतिविधिया बहुत तेज़ी से होती हैं, इसकी माप जी आई के माध्यम से की जाती हैं।

जी आई वाला खाना बहुत महत्वपूर्ण।

अगर कार्बोहाईडरेट युक्त खाना बहुत जल्दी टूटकर ग्लूकोज़ बन जाए और तेज़ी से रक्त में मिल जाए तो वह ज़्यादा जी. आई. वाला खाना हैं। वहीँ अगर खाना धीरे धीरे टूटकर ग्लूकोज़ में परिवर्तित होता हैं और धीमी गति से रक्त में मिलता हैं तो वह कम जी. आई. वाला खाना हैं।
जीवनशैली से जुडी बीमारियों जैसे – मोटापा, डायबिटीज़ और बी पी आदि को रोकने, नियंत्रित करने व् सेहतमंद रहने के लिए कम जी. आई. वाले खाने को अपनी डाइट का हिस्सा बनाये। कम जी. आई. वाले खाद्य पदार्थ हैं जैसे ब्राउन राइस, बादाम, चना दाल, दही, दूध (गाय या बकरी का), पनीर (गाय के दूध से बना), संतरा, पपीता, तरबूज़ आदि जिनमे अधित फाइबर समाये हुए रहते हैं।
वजन कम करने के लिए कम जी आई वाला भोजन बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता हैं। जिस खाने का जी आई 55 या इस से कम हैं तो वह खाना धीरे धीरे पचता हैं, और इस से ज़्यादा समय तक पेट भरे होने का अहसास रहता हैं। अगर किसी भोजन का जी आई 70 या इस से अधिक हैं तो इसको Hypoglycemic कहा जाएगा, ऐसा भोजन करने से जल्दी भूख लगती हैं और इस से खाना ज़्यादा खाया जाता हैं। ज़ाहिर हैं अगर आप ज़्यादा खाना खाएंगे तो पतला होना बहुत मुश्किल हैं।

Hypoglycemia से बचने के लिए आप थोड़ा ध्यान दे।

भरवां परांठे की जगह भरवां रोटी खाए। समोसे कचोरी व् पकोड़े के स्थान पर इडली उपमा व् पोहे खाए। मिठाई के बदले गुड, सूखे मेवे खाए। कोल्ड ड्रिंक के स्थान पर ब्लैक टी, लेमन टी, या हर्बल टी पिए। जूस के स्थान पर संतरा, मौसमी या फल ही खाए।

वजन मापने का सही समय।

शरीर का वजन हमेशा एक से वस्त्र पहन कर एक ही समय मापना चाहिए, खान पान अलग अलग समय और कपड़ो के परिवर्तन से वजन में अंतर आ जाता हैं। सुबह शौच से निर्वृत हो कर वजन मापना बिलकुल सही समय हैं।

No comments:

Post a Comment