now 1 3

lix 50

Wednesday, 9 November 2016

मोटापे और शराब सेवन के कारण भारतीय हैं कैंसर के लिहाज से संवेदनशील: विशेषज्ञ

मोटापे और शराब सेवन के कारण भारतीय हैं कैंसर के लिहाज से संवेदनशील: विशेषज्ञ



चिकित्सीय विशेषज्ञों का कहना है कि लंबे समय तक बैठे रहने वाली जीवनशैली और खानपान की गलत आदतों से होने वाले मोटापे और शराब के सेवन के कारण भारतीयों पर आहार नली के कैंसर और इस बीमारी की अन्य किस्मों का ज्यादा खतरा है।
मोटापे की सर्जरी और सर्जिकल गेस्ट्रोएंटरोलॉजी में विशेषज्ञता रखने वाले बेंगलूर के डॉ एम जी भट के अनुसार, मोटापे से प्रभावित लोगों की संख्या बढ़ने के कारण और भारतीयों द्वारा शराब का ज्यादा सेवन किए जाने के कारण स्वास्थ्य से जुड़ी गंभीर समस्या पैदा हो रही है और लोग अलग-अलग प्रकार के कैंसरों से जूझ रहे हैं।
बेंगलूर में मणिपाल अस्पताल और अपोलो स्पेक्ट्रा अस्पताल से जुड़े भट ने कहा, ‘मोटापे का संबंध विभिन्न किस्म के कैंसरों के बढ़े हुए खतरों से है। इनमें आहार नली, अग्नाशय, मलाशय, स्तन (मेनपॉज के बाद), गर्भकला, यकृत, थॉयराइड और पित्ताशय के कैंसरों के अलावा कई अन्य कैंसरों की आशंका शामिल है।’ हिंदुजा हैल्थकेयर से जुड़े जाने-माने लैप्रोस्कोपिक एंड बेरियाट्रिक सर्जन डॉ शशांक शाह ने कहा कि भारत में मोटापा वैश्विक महामारी के रूप में फैल रहा है। भारतीय ज्यादा मोटे हो रहे हैं और सबसे ज्यादा पेट का मोटापा पाया जा रहा है।

No comments:

Post a Comment