Saturday, 31 December 2016

डिब्बाबंद जूस पीने के नुकसान

डिब्बाबंद जूस पीने के नुकसान


किसी ने सही कहा है कि आज के वक्त में अगर कोई चीज सबसे ज्यादा कीमती है तो ‘समय’ है। अगर देखा जाए तो आधुनिकता के इस दौर में बाजार में लोगों के समय के आधार पर चीजें बनाई या परोसी जा रही है। इसका एक उदाहरण आज के समय में बनाए जा रहे गाने को लिया जा सकता है। आज के गाने पहले के मुकाबले बहुत ही फास्ट होते हैं जो थोड़े समय में आपका मनोरंजन करने की कोशिश करते हैं। इसी तरह समय को आधार मानकर आज कई सारी कंपनियां आ गई हैं जो लोगों कम वक्त में सही खाना देने का दावा करती हैं। ये खाना ज्यादातर पैक्ड होते हैं। इसमें कोल्ड ड्रिंक, कुकीज और अन्य डिब्बाबंद खाद्य पदार्थ शामिल है।
इसी तरह डिब्बाबंद खाद्य पदार्थ में जूस भी आता है। ऐसा देखा गया है कि लोगों के पास समय की कमी होने के कारण वह घर पर फ्रेश जूस नहीं बना पाते, इसलिए बाजार से पैक्ड जूस लेना तरजीह देते है। लेकिन क्या बाजार में मिलने वाला जूस आपके स्वास्थ्य के लिए सही होता है। यह एक जानने का विषय है। ऐसा माना गया है कि बाजार से मिलने वाले पैक्ड जूस में पूरे 100 फीसदी फलों का जूस नहीं होता, अर्थात इसे हम किसी भी तरह प्राकृतिक फलों का जूस का दर्जा नहीं दे सकते हैं। इस तरह के जूसों में मिलावटी की जाती है जो कई बार लोगों के स्वास्थ्य के लिए सही साबित नहीं हो सकती है। आइए जानते हैं डिब्बाबंद जूस के नुकसान
पेट की समस्या
खूद को ताकत देने के लिए कई बार जिस पैक्ड जूस का आप सेवन करते हैं, तो उससे आपका पेट खराब हो सकता है। नाशपाती, स्वीट चेरी और सेब जैसे कुछ फलों में सॉर्बिटॉल जैसी शुगर मौजूद होती है, जो आसानी से पचती नहीं। ऐसे में आपको गैस, दस्त, पेट में उथल-पुथल और डायरिया की समस्या भी देखने में आती है।
प्राकृतिक और विटामिन तत्व खत्म हो जाते हैं
ऐसा देखा गया है कि डिब्बाबंद जूस बानने के लिए जूस को पहले उबाला जाता है ताकि उनमें पाए जाने वाले बैक्टीरिया खत्म हो सके। लेकिन इससे प्राकृतिक और विटामिन तत्व खत्म हो जाते हैं। इसके अलावा इससे शरीर को फाइबर भी नहीं मिलता।
मोटापा बढ़ने का खतरा
मोटापा घटाने के लिए आप दिनरात व्यायाम करते हैं, लेकिन उसी क्षण यदि आप अपनी कमजोरी को दूर करने के लिए डिब्बाबंद जूस का सहारा लेते हैं, तो इससे मोटापा बढ़ने का खतरा हो सकता है। जानकार भी मानते हैं कि प्राकृतिक फल और सब्जियों की तुलना में पैक्ड जूस को लेने से ज्यादा वजन बढ़ता है।
डायबिटिज के मरीज न करें इसका सेवन
क्या आप डायबिटिज के मरीज हैं फिर तो आपको डॉक्टर की तरफ से परहेज करने की सलाह मिलती होगी। क्या आपके डॉक्टर ने पैक्ड जूस न पीने की सलाह दी है। दरअसल डायबिटीज के रोगियों को पैक्ड जूस बिल्कु ल भी नहीं पीना चाहिए। दरअसल ये जूस रिफाइंड शुगर से बने होते हैं, जो डायबिटिक लोगों के लिए ठीक नहीं है। अगर इसमें सुगर फ्री लिखा होता है तब भी इसके सेवन से बचना चाहिए।
आर्टिफीशियल कलर का प्रयोग
बाजार से खरीदकर जिस फल का आप जूस बनाने हैं, तो वह बिल्कुल फ्रेश होता है लेकिन डिब्बाबंद जूस में आर्टिफीशियल कलर का प्रयोग किया जाता है, जिससे वह देखने में फल के रंग के जूस का लगे। कई बार ये कलर आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक साबित हो सकते हैं।
नोट: देखिए कभी-कभार पैक्ड जूस पीना नुकसानदेह नहीं है लेकिन आप नियमित रूप से पैक्ड जूस पीते हैं और आप बड़ी संख्या में इसे पीते हैं तो यह आपके लिए नुकासनदेह हो सकता है।

No comments:

Post a Comment